डीबीटीएल कराकर लें घर बैठे गैस बुकिंग व सब्सिडी की जानकारी


Gas Cylinder

नवीन जोशी, नैनीताल। इंडेन के उपभोक्ता यथाशीघ्र डीबीटीएल सुविधा से जुड़ कर आगे मोबाइल फोन  नंबर 9012554411 पर फोन कर घर बैठे गैस बुक तथा इस नंबर के साथ ही इंडेन के टॉल फ्री नंबर 18002333555 पर डीबीटीएल संबंधी और 18003001947 पर आधार कार्ड संबंधी जानकारियां ले सकते हैं। इसके अलावा इंडेन के नंबर 8650002510 पर एसएमएस भेजकर भी अपनी शिकायत दर्ज की जा सकती है। इंडेन कंपनी की वेबसाइट-इंडेन डॉट को डॉट इन (www.indane.co.in) से घर बैठे अपनी सब्सिडी की जानकारी तथा अपने मोबाइल फोन से *99*99# दबाकर तथा अपना आधार कार्ड टाइप कर अपने आधार कार्ड नंबर के बैंक खाते से जुड़े होने की जानकारी ले सकते हैं।

घर बैठे भी ऑनलाइन करा सकते हैं गैस कनेक्शन को आधार से लिंक

बैंक खातों को लिंकअप कराने के लिए गैस एजेंसी से फॉर्म लेकर भरना होगा। इसके लिए दो तरह के फॉर्म होंगे। एक फॉर्म उन उपभोक्ताओं के लिए हैं, जिनके पास आधार कार्ड है और दूसरा फॉर्म उन लोगों के लिए है जिनके पास आधार कार्ड नहीं है। फॉर्म जमा होने के बाद उपभोक्ता तो 17 अंकों वाला एलपीजी आईडीे मिल जाएगा। गाइड लाइन के मुताबिक, जो उपभोक्ता 23 फरवरी तक फॉर्म नहीं भर पाएंगे उन्हें डीबीटीएल योजना का लाभ नहीं मिलेगा, लेकिन बजट के बाद भी उन्हें खाते लिंक कराने का समय दिया जाएगा।
आधार नहीं पहुंचे तो घबराएं नहीं, मिलेगा समय
ऐसे उपभोक्ता जिन्होंने आधार कार्ड के लिए आवेदन किया है, लेकिन अभी तक उनका आधार नहीं मिला है। उन्हें जून तक आधार जमा कराने की छूट मिलेगी। ऐसे उपभोक्ताओं को अप्रैल से जून तक की सब्सिडी एक साथ दी जाएगी। इतना ही नहीं जिन उपभोक्ताओं के आधार कार्ड जून तक भी नहीं आते हैं, वे भविष्य में कभी भी अपने आधार कार्ड की फोटोकॉपी बैंक और गैस एजेंसी पर जमा कर सकते हैं। लेकिन, तब तक उन्हें गैर सब्सिडी वाला सिलेंडर ही खरीदना होगा।
23 फरवरी को बजट सत्र शुरू हो रहा है। इसलिए, सरकार फिलहाल डीबीटीएल योजना को कुछ समय के लिए बंद करने जा रही है। 31 मार्च तक पूरा डाटा इकट्ठा करने के बाद से दोबारा योजना को शुरू करने पर फैसला लिया जाएगा। यदि आपने अभी तक अपने बैंक खाते और आधार कार्ड को गैस कनेक्शन से लिंक नहीं कराया है तो इसे करा लें। क्योंकि 23 फरवरी के बाद जिनके खाते लिंक नहीं होंगे उन्हें सब्सिडी मिलने में दिक्कत आ सकती है। बता दें, जनवरी से बैंक खातों में सब्सिडी का पैसा मिलना शुरू हो चुका है। लेकिन, जिन उपभोक्ताओं ने अपने बैंक खाते को आधार से लिंकअप नहीं कराया है उन्हें इसका लाभ नहीं मिलेगा। अगर आपने भी गैस कनेक्शन को आधार कार्ड या बैंक खाते से लिंक नहीं कराया है तो घबराएं नहीं, आप घर बैठे भी ऑनलाइन गैस कनेक्शन को आधार से लिंक करा सकते हैं।
ऐसे कराएं आधार कार्ड लिंक
स्टेप-1: सबसे पहले इस वेबसाइट पर क्लिक करें https://rasf.uidai.gov.in/seeding/User/ResidentSplash.aspx क्लिक करने के बाद आपके सामने आधार कार्ड की वेबसाइट खुलकर आएगी। इसमें एक स्टार्ट नाउ का बटन होगा। इस पर क्लिक करने से एक और पेज खुलेगा।
स्टेप-2: इस पेज पर आपसे आपकी डिटेल्स मांगी जाएंगी। इनमें तीन ऑप्शन होंगे। पहला कौन से राज्य के निवासी हैं, कौन से शहर के निवासी हैं। इसके बाद किस बेनेफिट के लिए आप आधार कार्ड को लिंक करा रहे हैं। इसमें एक ही ऑप्शन आएगा LPG. इसके बाद इसमें कंपनी का नाम भरना होगा।
स्टेप-3: तीसरे स्टेप में आपको अपना डिस्ट्रीब्यूटर, कंज्यूमर नंबर भरना होगा। इसके बाद ई-मेल आईडी, फोन नंबर और आधार नंबर देना होगा।
स्टेप-4: वेरिफिकेशन
मोबाइल और ई-मेल आईडी रजिस्ट्रर कराने के बाद आपके पास एक OTP नंबर आएगा। वेरिफिकेशन कोड की जगह ये नंबर एंटर कीजिए और फिर बॉक्स में बनी इमेज को अल्फा
न्यूमरिक कोड भरना होगा। इसके बाद आखिरी में सब चेक करने के बाद सबमिट बटन दबाना होगा। इसके कुछ दिन बाद ही आपकी रिक्वेस्ट अप्रूव हो जाएगी। इसके बाद सब्सिडी सीधे आपके बैंक अकाउंट में पहुंच जाएगी।

अब तक केवल 61 फीसद उपभोक्ता जुड़ पाए डीबीटीएल सुविधा से

-इस सुविधा से सभी उपभोक्ताओं का न जुड़ना है गैस वितरण में परेशानी की वजह
-6.1 लाख उपभोक्ता ले चुके करीब आठ लाख फार्म, पर भरे सिर्फ 3.37 लाख ने
नैनीताल। कुमाऊं मंडल में खासकर हल्द्वानी सहित बड़े शहरों में गैस उपभोक्ताओं को गैस मिलने में हो रही समस्या की वजह उपभोक्ताओं का डीबीटीएल सुविधा से न जुड़ना है। केएमवीएन के गैस प्रबंधक आरएस बिष्ट ने बताया कि कुमाऊं मंडल में अब तक औसतन ६१ फीसद उपभोक्ता ही डीबीटीएल सुविधा से जुड़े हैं। दिलचश्प तथ्य है कि निगम के कुमाऊं में ६.१ लाख उपभोक्ता हैं। इन उपभोक्ताओं के लिए निगम अब तक करीब आठ लाख फार्म अपनी एजेंसियों को उपलब्ध करा चुका है, जबकि अब तक करीब ३.३७ लाख उपभोक्ताओं ने ही यह फार्म भरे हैं।
श्री बिष्ट ने बताया कि इंडेन के नियमों के अनुसार अब तक निगम को अपने ८० फीसद उपभोक्ताओं को डीबीटीएल से जोड़ लेना था। इस हेतु अतिरिक्त काउंटरों की भी व्यवस्था की गई, बावजूद नैनीताल व भवाली में ५७-५७, हल्द्वानी में ६९, अल्मोड़ा में ५८, पिथौरागढ़ में ६६, बाजपुर में ५९, काशीपुर में ४६ व बागेश्वर में ६२ फीसद सहित औसतन ६१ फीसद उपभोक्ताओं ने ही अब तक फार्म भरकर अपने गैस कनेक्शनों को अपने बैंक खातों से जुड़वाया है। वहीं पंतनगर में सर्वाधिक ८४,तिलढुकरी पिथौरागढ़ में ८२, रानीखेत में ७३ व धारानौला अल्मोड़ा में ७१ फीसद उपभोक्ता डीबीटीएल सुविधा से जुड़ गए हैं। बताया कि ऐसी स्थिति में निगम को बिना डीबीटीएल व डीबीटीएल वाले उपभोक्ताओं के अलग-अलग हिसाब-किताब तथा अलग-अलग सिलेंडर रखने पड़ रहे हैं, और इस कारण ही गैस वितरण में भारी दिक्कत आ रही है। उन्होंने उपभोक्ताओं से जल्द से जल्द डीबीटीएल सुविधा का लाभ लेने की अपील की है।

उत्तराखंड में 15 से 30 रुपये तक महंगा मिलेगा गैस सिलेंडर

उत्तराखंड वासियों को घरेलू गैस सिलेंडर नए वर्ष में पहले से 15 से 30 रुपये तक महंगा मिलेगा। यह स्थिति तब है, जबकि साल के पहले दिन से गैस उपभोक्ताओं को बिना सब्सिडी का सिलेंडर मिलना है और आज ही बिना सब्सिडी के 14.2 किग्राभार वाले सिलेंडरों की कीमत में 46 रुपये की कमी आई है। गौरतलब है कि बृहस्पतिवार से उपभोक्ताओं को घरेलू गैस की सब्सिडी का लाभ सीधे उनके बैंक खाते में मिलेगा जो औसतन 304 रुपये प्रति सिलेंडर है जबकि दिल्ली में बैंक खातों में सब्सिडी के करीब 352 रुपये जमा होने हैं।

उल्लेखनीय है कि अन्य पेट्रोलियम पदार्थो की तरह ही गैस के दाम भी अलग-अलग शहरों में परिवहन व अन्य खर्चो के आधार पर अलग-अलग होते हैं। इंडियन ऑयल के कुमाऊं मंडल में वितरक कुमाऊं मंडल विकास निगम के गैस प्रबंधक आरएस बिष्ट ने बताया कि एक जनवरी से बिना सब्सिडी वाले सिलेंडर की दरें हल्द्वानी व रुद्रपुर में 759.50, नैनीताल में 760, रामनगर में 765.50, बनबसा, टनकपुर व सल्ट आदि में 774 रुपये होंगी। नैनीताल में बिना सब्सिडी का घरेलू गैस सिलेंडर 440 रुपये में मिलता है, जबकि अब इसकी दर यहां 760 रुपये हो गई है। इसमें से 304 रुपये की सीधे बैंक खाते में जमा होने वाली औसत सब्सिडी को काट दें तो एक सिलेंडर की कीमत 456 रुपये होगी, जो पहले के मुकाबले 16 रुपये अधिक होगी। इसी प्रकार जिन स्थानों पर एक सिलेंडर 774 रुपये में मिलेगा, वहां कीमतें मौजूदा दर से करीब 30 रुपये तक अधिक हो सकती हैं। दामों में यह गफलत क्यों हो रही है, अभी इस बारे में कोई भी ठीक से बताने को तैयार नहीं है।

दामों में कटौती अधिक, फायदा कम

नैनीताल। अंतरराष्ट्रीय तेल की दरों में गिरावट के परिणामस्वरूप एक जनवरी को बिना सब्सिडी के सिलेंडरों की कीमतों में कमी की गई है। इससे पूर्व यानी जनवरी 2015 तक गैस की कीमतें 817 रुपये थीं। बताया गया है कि दिल्ली में एक सिलेंडर के दाम में 43.50 रुपये की कमी आई है, जिसके बाद बिना सब्सिडी वाले 14.2 किग्रावाले सिलेंडर की कीमत 708.50 रुपये होगी, जबकि उत्तराखंड में प्रति सिलेंडर कीमतों में कमी 43 से 46 रुपये तक बताई गई है, पर यहां अलग-अलग स्थानों पर एक सिलेंडर की कीमतें 759.50 से 774 रुपये तक होंगी। इससे पूर्व बीते माह एक दिसम्बर को भी बिना सब्सिडी वाले गैस सिलेंडर के दामों में करीब 113 रुपये की कमी दर्ज की गई थी। यानी यह दिसम्बर 2014 में करीब 930 रुपये थी। बृहस्पतिवार (01.01.2015) को इंडियन आयल के कुमाऊं क्षेत्र के सेल्स मैनेजर मुकेश कुमार चौधरी का मोबाइल नंबर ‘स्विच ऑफ’ मिला, जबकि केएमवीएन के गैस प्रबंधक ने कहा कि वह भी इस गुत्थी को समझने की कोशिश कर रहे हैं।

इधर नैनीताल में बिना सब्सिडी वाले घरेलू गैस सिलेंडर की ताजा कीमत सितम्बर 2015 में 562 रुपये हो गयी है, जबकि यह इससे पूर्व अगस्त 2015 में 633 तथा जुलाई 2015 में 660 रुपये थी।

यह भी पढ़ें : गैस बुकिंग अब फोन से ही होगी

घरेलू गैस संबंधित अन्य खबरों-आलेखों के लिए यह लिंक क्लिक करें।

Advertisements

One response to “डीबीटीएल कराकर लें घर बैठे गैस बुकिंग व सब्सिडी की जानकारी

  1. पिंगबैक: गैस बुकिंग अब फोन से ही होगी…. | नवीन जोशी समग्र·

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s