नैनीताल से सांसद बनना चाहता था दिल्ली में कारतूसों के साथ पकड़ा गया हिस्ट्रीशीटर फईम


Faiem Miyanनैनीताल लोकसभा सीट से भरा था 2014 में परचा, पोल खुलने पर पीस पार्टी ने नहीं दिया टिकट , बरेली के थाना किला व बारादरी में हत्या सहित 14 केस दर्ज हैं फईम पर’ उसके आतंकवादी संबंधों की पड़ताल भी की जा रही है। भवाली व हल्द्वानी में लम्बे समय अपनी पहचान छुपाकर रह चुका है, प्रॉपर्टी डीलिंग के धंधे में भी रहा है सक्रिय। 

नैनीताल। रविवार (19.01.2015) को दिल्ली में चल रही दुनिया के सबसे बड़े गणतंत्र दिवस तथा दुनिया के सबसे बड़े मेहमान, अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के स्वागत की तैयारियों के बीच दिल्ली पुलिस ने तीन लोगों को 1000 से अधिक कारतूसों के साथ पकड़ा है। पकड़े गए लोगों में बरेली, उत्तर प्रदेश निवासी फईम मियां उर्फ बंटी भी शामिल है, जिसने दिल्ली पुलिस को अपना पता घोड़ाखाल रोड नैनीताल बताया है। फईम ने 2014 में हुए लोकसभा चुनाव में संसद में पहुंचने का ख्वाब देखा था। उसने नैनीताल-ऊधमसिंह नगर सीट से खुद को पीस पार्टी का प्रत्याशी बताते हुए लोकसभा के लिए नामांकन भी कराया था।  इस दौरान उसकी कलई खुल जाने से पीस पार्टी ने उसे टिकट नहीं दिया। इससे उसका परचा निरस्त हो गया।

मूलत: बरेली निवासी फईम की हिस्ट्रीशीट में बरेली के किला व बारादरी थानों में हत्या व हत्या के प्रयास सहित 13 तथा भवाली में एक केस दर्ज हैं। वह भवाली में एक वर्ष तथा हल्द्वानी के बनभूलपुरा में भी छिपा रहा था। उल्लेखनीय है कि फईम मियां उर्फ बंटी पुत्र मियां जान निवासी कंघीटोला, थाना किला बरेली को रविवार को दिल्ली में गणतंत्र दिवस व अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा की सुरक्षा के मद्देनजर चल रही चौकसी के दौरान दो साथियों सहित 1000 से अधिक कारतूसों के साथ गिरफ्तार किया गया है। जांच के दौरान उसने स्वयं को घोड़ाखाल रोड नैनीताल का बताया है। वह घोड़ाखाल रोड भवाली स्थित ठेकेदार देवेंद्र सिंह ढैला पुत्र सुरेंद्र ढैला के ‘देवाशीष’ नाम के घर में करीब एक वर्ष से किराए पर खुद की पहचान छिपाकर रहा है। भवाली पुलिस ने उसे 15 अप्रैल 2014 को हिस्ट्रीशीटर होने और पहचान छिपाकर एक वर्ष से रहने के आरोप में गिरफ्तार किया था। उसके खिलाफ भादंसं की धारा 41/109 में मुकदमा दर्ज कर उसे एसडीएम न्यायालय में पेश किया गया था। थाना भवाली के एसआई रवींद्र कुमार यादव ने बताया कि वह जेल भेजा गया था। इसके बाद वह यहां नजर नहीं आया। उसके हल्द्वानी के बनभूलपुरा गली नंबर 14 में रफीक व अनीस जहां के घर किराए पर रहने तथा फर्जी तरीके से मकान मालिक पर किरायेदार का सत्यापन न करने के आरोप में 10000 रुपये का जुर्माना भी ठोका था। पुलिस अब भी मकान मालिक की भूमिका को लेकर संदेहराशन कार्ड और पहचान पत्र बनाने की पुलिस को जानकारी है।

मकान मालिक की भूमिका पर पुलिस को संदेह

पुलिस ने मकान मालिक देवेंद्र सिंह ढैला पर किरायेदार का सत्यापन न करने के आरोप में 10000 रुपये का जुर्माना भी ठोका था। पुलिस अब भी मकान मालिक की भूमिका को लेकर संदेह में है, जिसने 10  हजार रुपये के मासिक किराये पर फईम को दो कमरे किराये पर दिए थे, और कमोबेश अपना पूरा घर ही उसे सौंप रखा था। पुलिस के अनुसार, मकान मालिक लम्बे समय से परिवार सहित दिल्ली में रहता है, और पुलिस इस घटना के बाद से लगातार प्रयास करने के बावजूद उससे संपर्क नहीं कर पायी है।

फईम की हिस्ट्रीशीट

  1. 1996 में थाना बारादरी में धारा 377/511 के तहत केस
  2. 1998 में थाना किला में भादंसं की धारा 307 के तहत केस
  3. 1998 में थाना किला में 25 आर्म्स एक्ट के तहत केस
  4. 1998 में थाना किला में धारा 380/411 के तहत केस
  5. 1998 में थाना किला में 8/21 एनडीपीएस अधिनियम
  6. 1998 में थाना किला में भादंसं की धारा 327
  7. 1999 में थाना बारादरी में हत्या व हत्या के प्रयास में धारा 307/302 का केस
  8. 1999 में थाना किला में भादंसं की धारा 327 का केस
  9. 2000 में थाना किला में भादंसं की धारा 307, 504, 506
  10. 2000 में थाना बारादरी में 8/21 एनडीपीएस अधिनियम
  11. 2000 में थाना किला में भादंसं की धारा 394/411
  12. 2005 में थाना किला में 25 आर्म्स एक्ट का केस
  13. 2005 में थाना किला में 8/15 एनडीपीएस अधिनियम
  14. 2014 में थाना भवाली में भादंसं की धारा 41/109
Advertisements

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s