उत्तराखंड के पहाड़ी बच्चे नहीं मनाते गणतंत्र दिवस, जानिए क्यों ?


-शीतकालीन विद्यालय रहते हैं बंद, अधिकांश बच्चों को नहीं पता कैसे मनाते हैं गणतंत्र दिवस
नवीन जोशी, नैनीताल। पर्वतीय राज्य उत्तराखंड के पहाड़ी अंचलों में अधिकांश बच्चों को गणतंत्र दिवस मनाने के बारे में जानकारी नहीं है। कारण, उनके विद्यालय गणतंत्र दिवस के दौरान शीतकालीन अवकाश के लिए बंद होते हैं, इसलिए न स्कूलों में गणतंत्र दिवस का आयोजन होता है, और न ही बच्चों को ही देश के अपने संविधान के साथ वास्तविक स्वतंत्रता के राष्ट्रीय पर्व गणतंत्र दिवस के आयोजन की जानकारी हो पाती है। इसलिये वे गणतंत्र दिवस आयोजनों में भी भागेदारी नहीं कर पाते हैं।

2ntl725ntl10उल्लेखनीय है कि गणतंत्र दिवस, देश की आजादी का वास्तविक पर्व है। इसी दिन 1930 में देश ने ‘संपूर्ण स्वराज” की घोषणा की थी, और इसी दिन से राष्ट्र में अपने संविधान के साथ अपना वास्तविक राज कायम हुआ था। देश भर में यह आयोजन खासकर विद्यालयों में बेहद हर्षोल्लास से मनाया जाता है। लेकिन नैनीताल जनपद की बात करें तो यहां कुल 976 प्राथमिक विद्यालयों में से 215 तथा जूनियर हाई स्कूल से इंटरमीडिएट तक के 91 सरकारी, मुख्यालय के एक स्थानीय निकाय संचालित नगर पालिका नर्सरी स्कूल एवं तीन अर्धशासकीय विद्यालयों भारतीय शहीद सैनिक विद्यालय, सीआरएसटी इंटर कालेज व मोहन लाल साह बालिका विद्या मंदिर के साथ ही सभी निजी पब्लिक स्कूलों में इन दिनों शीतकालीन अवकाश होने के कारण गणतंत्र दिवस का आयोजन नहीं होता है। 1st republic dayमुख्यालय में जहां अन्य राष्ट्रीय पर्वों पर सुबह प्रभात फे री से लेकर अपराह्न तक कार्यक्रम बच्चों से ही गुलजार रहते हैं, वहीं गणतंत्र दिवस की इकलौती प्रभात फेरी ऐसी होती है, जिसमें बच्चे शामिल नहीं होते हैं, तथा शिक्षक भी अन्य संस्थानों में उपस्थिति दर्ज कराकर औपचारिकता निभा लेते हैं। वर्षों से ऐसा परिपाटी के रूप में हो रहा है। इसका एक नुकसान यह भी है कि बच्चों को गणतंत्र दिवस के इस महत्वपूर्ण आयोजन की जानकारी ही नहीं हो पाती है, या तब होती है, जब वह ग्रीष्मकालीन अवकाश वाले विद्यालयों में जाते हैं। इसका निदान क्या हो यह एक विचारणीय प्रश्न हो सकता है।

हल्द्वानी के स्कूली बच्चों को बुलाकर चलाया गया काम

नैनीताल। फ्लैट्स मैदान में गणतंत्र दिवस के अवसर पर नगर के स्कूलों के बंद होने की वजह से हल्द्वानी के निर्मला कान्वेंट, आर्यमन बिड़ला, सेंट थरेसा, निमोनिक कान्वेंट व डॉन बास्को स्कूलों के छात्र-छात्राओं ने रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम, देशभक्ति गीत, योग पर आधरित कार्यक्रमों की प्रस्तुतियां दी। गीत व नाट्य प्रभाग के कलाकारों तथा पुलिस लाईन के बच्चों ने भी कार्यक्रम पेश किये।

Advertisements

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s