भगवान राम की नगरी के समीप माता सीता का वन ‘सीतावनी’


पोस्ट पढ़ने को यहाँ क्लिक करें.

मुक्तेश्वर: जहां होते है प्रकृति के बीच ‘मुक्ति के ईश्वर’ के दर्शन


देवभूमि उत्तराखंड के नैनीताल जनपद में घने वनों के बीच प्रकृति की गोद में, सूर्यास्त के दौरान स्वर्णिम आभा से … अधिक

प्रकृति को संजोऐ एक वास्तविक हिल स्टेशन, रानी पद्मावती का खेत-रानीखेत


विकास की दौड़ में पीछे छूटती प्राकृतिक सुन्दरता व नैसर्गिक शांति यदि आज भी किसी पर्वतीय नगर में उसके मूल … अधिक

उत्तराखंड राज्य के प्रतीकों-बुरांश, मोनाल व कस्तूरा से लैस होगा नैनीताल जू


-राज्य वृक्ष बुरांश के बाद शीघ्र यहां दिखाई देंगे राज्य पक्षी मोनाल और राज्य पशु कस्तूरा मृग -हिमांचल प्रदेश से … अधिक

नाथुला से कहीं अधिक है उत्तराखंड के रास्ते कैलाश मानसरोवर यात्रा का क्रेज


-निर्मूल साबित हुई नाथुला का मार्ग खुलने पर उत्तराखंड की चिंता -उत्तराखंड के पौराणिक मार्ग से 1100 और सिक्किम के … अधिक

अब पहाड़ पर सैलानी ले सकेंगे गोवा की तरह खुले में नहाने का आनंद


मदकोट में बनेगा देश का पहला गंधक के पानी का ‘तप्त स्विमिंग पूल’ -गोरी नदी में बहता है गंधक का … अधिक

उत्तराखंड से 1.5 और सिक्किम से 1.7 लाख में होगी कैलाश मानसरोवर यात्रा


-उत्तराखंड से 1080 और सिक्किम से 250 यात्री जा पाएंगे यात्रा पर -उत्तराखंड के पौराणिक मार्ग से 25 तो सिक्किम से 23 दिनों में पूरी होगी … अधिक

उत्तराखंड की सांस्कृतिक राजधानी-रत्नगर्भा अल्मोड़ा


चंद शासकों की राजधानी रहे अल्मोड़ा की मौजूदा पहचान निर्विवाद तौर पर उत्तराखंड की सांस्कृतिक राजधानी के रूप में है। … अधिक

चंपावत से मिला ‘कुमाऊं’ को अपना नाम और यह ही ‘कुमाऊं’ की मूल पहचान


यूं चंपावत वर्तमान में कुमाऊं मंडल का एक जनपद और जनपद मुख्यालय है, लेकिन यह कहना अतिशयोक्ति नहीं है कि … अधिक

पंचाचूली की गोद में ‘सात संसार-एक मुनस्यार’


नवीन जोशी नैनीताल । देवभूमि कुमाऊं में एक स्थान ऐसा भी है, जिसके बारे में कोई कहता है-‘सार संसार-एक मुनस्यार’, और कोई ‘सात … अधिक

तीसरी कोशिश में बन पाया था बकिंघम पैलेस जैसा नैनीताल राजभवन


नवीन जोशी नैनीताल। लंदन के बकिंघम पैलेस की प्रतिकृति के रूप में 1899 में गौथिक शैली में बने नैनीताल राजभवन का … अधिक

क्या आपको पता है नैनीताल में कहां है देवगुरु बृहस्पति का मंदिर, और किस गांव में हुई थी मधुमती फिल्म की शूटिंग


-जनपद के ऐसे 10 गांव बनेंगे पर्यटन गांव, मिलेगा पर्यटन योजनाओं का लाभ -सैलानी जान सकेंगे कहां है नैनीताल में देवगुरु … अधिक

पाषाण युग से यायावरी का केंद्र रहा है कुमाऊं


-पाषाणयुगीन हस्तकला को संजोए लखु उडियार से लेकर रामायण व महाभारत काल में हनुमान व पांडवों से लेकर प्रसिद्ध चीनी … अधिक

सरोवरनगरी में बरसात भी होती है लाजवाब, मानो होती है स्वर्ग की तरह बादलों पर सैर


नवीन जोशी, नैनीताल, सरोवरनगरी नैनीताल को यूं ही ‘प्रकृति का स्वर्ग’ नहीं कहा जाता है। फिल्मों में स्वर्ग का चित्रण जिस … अधिक