अब पहाड़ पर सैलानी ले सकेंगे गोवा की तरह खुले में नहाने का आनंद


मदकोट में बनेगा देश का पहला गंधक के पानी का ‘तप्त स्विमिंग पूल’

Madkot (2)
मदकोट में गंधक के पानी का ‘तप्त स्विमिंग पूल’

-गोरी नदी में बहता है गंधक का पानी, जो शरीर को गोरा करने के साथ ही त्वचा रोगों के लिए भी बहुत लाभदायक है
-पिथौरागढ़ जिले के मदकोट में केएमवीएन कर रहा निर्माण, निगम के टीआरएच के बिल्कुल करीब बहती गोरी नदी में है गंधक का बड़ा प्राकृतिक जल श्रोत
नवीन जोशी, नैनीताल। सामान्यतया पहाड़ पर लोग नहाने और खासकर खुले में नहाने में ठंड की वजह से डर जाते हैं, लेकिन कुमाऊं मंडल यहां पिथौरागढ़ जिले के सुदूरवर्ती प्राकृतिक सुषमा के बीच गोरी नदी के किनारे गोवा की तरह खुले में न केवल प्राकृतिक तौर पर गर्म पानी से नहा पाएंगे, वरन यहां नहाने से उनका शरीर नदी के नाम की तरह गोरा भी होगा और त्वचा रोगों से मुक्ति भी मिलेगी।

Madkot
Rashtriya Sahara 22.02.2015

देश में गर्म पानी के तप्त कुंड तो कई स्थानों पर मिल जाते हैं, लेकिन देश का पहला गर्म पानी का प्राकृतिक ‘तप्त स्विमिंग पूल’ पिथौरागढ़ जिले के मदकोट कस्बे में बनने जा रहा है। खास बात यह भी है कि इस स्विमिंग पूल का पानी प्राकृतिक तौर पर गुनगुना-गर्म होने के साथ ही गंधक युक्त भी है। इससे न केवल शरीर की कांति साफ गोरे रंग में दमकने लगती है, वरन इससे अनेक प्रकार के त्वचा रोगों से भी मुक्ति मिलती है।
उल्लेखनीय है कि कुमाऊं मंडल विकास निगम द्वारा मदकोट में एक नया पर्यटक आवास गृह बनाया गया है, जिसके पास ही बहने वाली गोरी नदी के पूरे जलागम क्षेत्र में काफी मात्रा में गंधक की खानें हैं। गंधक की पहचान शरीर की कांति का गोरा करने के लिए भी है, संभवतया इसी कारण इस नदी का नाम गोरी नदी पड़ा होगा। गंधक युक्त प्राकृतिक जल गर्म तो होता ही है, साथ ही कुष्ठ जैसे असाध्य बताए जाने वाले रोगों के लिए भी रामबाण माना जाता है। आधुनिक चिकित्सा विज्ञान के दृष्टिकोण से भी माना जाता है कि गंधक युक्त जल में नहाने से त्वचा के एक्जीमा यानी खाज-खुजली व अन्स सभी तरह के त्वचा रोग भी ठीक हो जाते हैं। केएमवीएन के एमडी धीराज गब्र्याल ने मदकोट में गंधक के तप्त कुंडों का लाभ यहां आने वाले सैलानियों को दिलाने के लिए पर्यटक आवास गृह के पास ही इसके छह गुणा तीन मीटर के तीन स्पान युक्त स्विमिंग पूल का निर्माण करा दिया है। निगम के मंडलीय प्रबंधक-पर्यटन डीके शर्मा ने बताया कि देश में राजगीर, हिमांचल प्रदेश, बद्रीनाथ आदि अनेक स्थानों पर तप्त कुंड तो कई स्थानों पर मिलते हैं, लेकिन मदकोट में बन रहा स्विमिंग पूल देश का पहला ‘तप्त स्विमिंग पूल” होगा।

गोवा जैसा रहता है मदकोट में माहौल

नैनीताल। आसानी से कोई विश्वास नहीं करेगा, लेकिन यह सच है। हिमालय के बेहद करीब होने के बावजूद मदकोट में स्थानीय युवक-युवतियां गोवा की तर्ज पर लगातार नहाते रहते हैं। ऐसा इसलिए कि यहां मौजूद गोरी नदी में आसपास स्थित गंधक की खानों का भंडार है, जिस कारण यहां पानी सर्दियों में भी गुनगुना रहता है। इसलिए यहां कितनी भी ठंड में लोग आराम से खुले में नहाते हैं, और नदी किनारे रेत पर आराम से लेटे रहते हैं। निगम के एमडी धीराज गब्र्याल ने कहा कि स्विमिंग पूल बनने से सैलानी भी यहां आकर ऐसा ही आनंद उठा पाएंगे।

Advertisements

2 thoughts on “अब पहाड़ पर सैलानी ले सकेंगे गोवा की तरह खुले में नहाने का आनंद

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s